सौदेबाजी पर उतरा पाकिस्तान, पायलट अभिनंदन की रिहाई के लिए रखी ये शर्त
Breaking News :

NATIONAL

सौदेबाजी पर उतरा पाकिस्तान, पायलट अभिनंदन की रिहाई के लिए रखी ये शर्त
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Thursday,28 February , 2019)

New Delhi News, 28 Feb 2019 : भारत के सख्त तेवर के बाद पाकिस्तान को समझ में नहीं आ रहा है कि वो क्या करे। इन सबके बीच भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की रिहाई को लेकर नापाक पाकिस्तान ब्लैकमेलिंग पर उतर आया है। भारत और पाकिस्तान तनाव के बीच जारी तनाव के बीच पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बड़ा बयान दिया है। पाक के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान भारतीय पायलट अभिनंदन को लौटान के लिए तैयार है। शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि अगर दोनों देशों के बीच तनाव कम होता है तो वो अपने कब्जे में आए भारतीय एयरफोर्स के विंग कमांडर को सुरक्षित लौटा देंगे। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि उनका देश अभिनंदन की रिहाई के लिए तैयार है बशर्ते कि भारत बातचीत के लिए आगे आए। उन्होंने कहा कि भारतीय पायलट सुरक्षित है और उसकी रिहाई हो सकती है और पाकिस्तान पहले की तरह सकारात्मक कदम उठाने के लिए तैयार है। जाहिर है कि इससे पाकिस्तान की हताशा जाहिर होती है। वह अभिनंदन के जरिए भारत को ब्लैकमेल करना चाहता है। शाह महमूद कुरैशी का ये बयान उस वक्त आया है जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही 'अच्छी खबर' आने वाली है। वियतनाम के हनोई में उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ शिखर वार्ता से इतर अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा है कि, 'मुझे लगता है भारत और पाकिस्तान की तरफ से एक आकर्षक खबर आ रही है, दोनों देशों में पिछले काफी समय से तनाव जारी है। हम इस मसले को सुलझाने में हम मध्यस्थता कर रहे हैं, हमें अच्छी खबरें मिल रही हैं। हमें उम्मीद है कि सदियों से चल रहा ये तनाव अब जल्द ही खत्म होगा।'
आपको बता दें कि भारत ने बुधवार दोपहर को ही नई दिल्ली में पाकिस्तान के कार्यवाहक हाई कमिश्नर को आपत्ति पत्र भेजते हुए भारतीय पायलट की तुरंत रिहाई की मांग की थी। देर रात इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग ने पाकिस्तान से औपचारिक तौर पर पायलट की रिहाई को कहा है। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय को भारत ने इस मामले में एक चिट्ठी भी लिखी है, हालांकि पाकिस्तान ने इस पर अब तक कोई जवाब नहीं दिया है। इससे पहले भारत ने पाकिस्तानी राजदूत को बुलाकर स्पष्ट कह दिया है कि हमारा फ़ाइटर पायलट हमें लौटा दो, वैसे पाकिस्तान के पास अधिक विकल्प हैं भी नहीं। क्योंकि जेनेवा संधि के मुताबिक पाकिस्तान हमारे पायलट को हाथ भी नहीं लगा सकता है। भारत ने आपत्ति जताते हुए कहा है कि पाकिस्तान इस संधि का उल्लंघन कर चुका है, क्योंकि उसने पायलट की घायल तस्वीरें और वीडियो साझा की है जो नियमों के खिलाफ हैं। अंतरराष्ट्रीय जिनेवा संधि में युद्धबंदियों को लेकर नियम बनाए गए हैं। इसके तहत युद्धबंदियों को डराने-धमकाने का काम या उनका अपमान नहीं किया जा सकता। युद्धबंदियों को लेकर जनता में उत्सुकता पैदा भी नहीं करनी है. संधि के मुताबिक, युद्धबंदियों पर या तो मुकदमा चलाया जाएगा या फिर युद्ध के बाद उन्हें लौटा दिया जाएगा।

सौदेबाजी पर उतरा पाकिस्तान, पायलट अभिनंदन की रिहाई के लिए रखी ये शर्त