सौमेन कोले बने भारतीय खाद्य उपभोक्ता के सदस्य, संस्था के स्वयंसेवको में दौडी खुशी की लहर
Breaking News :

DELHI/NCR

सौमेन कोले बने भारतीय खाद्य उपभोक्ता के सदस्य, संस्था के स्वयंसेवको में दौडी खुशी की लहर
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Saturday,06 October , 2018)

New Delhi News, 6 Octtober 2018 : पिछले 37 सालों सें संस्था केकठिन परिक्षम व अथक प्रयासों से प्राप्त हुई सफलता पर 6500स्वयंसेवको के दिलों में दौडी खुशी की लहर। तपसिल जातीआदिबासी प्रकटन सैनिक कृषि बिकास शिल्प केंद्र(टीजेएपीएसकेबीएसके) के 6500 स्वयंसेवकों में आज बहुतउत्साह व गर्व हैं क्योकि सचिव सौमेन कोले को (पश्चिम बंगाल),खाद्य निगम और खाद्य वितरण विभाग की सलाहकार समितिसदस्यता में चुना गया हैं। उपभोक्ता मामले मंत्रालय, खाद्य औरसार्वजनिक वितरण भारत सरकार द्वारा यह जानकारी दिल्लीपहुचे सचिव सैमेन कोले ने मीडिया से हुई बातचीत में बताई कियह उपलब्धि (टीजेएपीएसकेबीएसके) में 6500 सदस्यों कोअथक रूप से काम करने के लिए फायदेमंद होगी। यह निश्चितरूप से इस संगठन से संबंधित प्रत्येक व्यक्ति के भविष्य कोबढ़ाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार द्वारा अपनाई गई कईपरियोजनाएं इस संगठन द्वारा हर दरवाजे तक पहुंच जाएंगी।ग्रामीण परियोजनाओं और किसानों को उन परियोजनाओं सेसमृद्ध किया जाएगा। उन्होंने आश्वासन दिया कि उनका संगठनकृषि से संबंधित ग्रामीण लोगों के विकास के लिए सरकार की इनमूल्यवान धारणाओं को प्रसारित करने के लिए हर रास्ताअपनाएगा। उल्लेखनिय यह भी हैं कि तपसिल जाती आदिबासी प्रकटनसैनिक कृषि बिकास शिल्प केंद्र (टीजेएपीएसकेबीएसके) 37वर्षों तक ग्रामीण भारत की प्रगति के लिए काम कर रहा है औरप्रयास कर रहा है। पश्चिम बंगाल के 18 जिलों के तहत 204ब्लॉक में अपनी स्वयंसेवी सेवा प्रदान कर रहे हैं। भारत सरकार द्वारा व्यापक रूप से प्रशंसित परियोजनाएंय जैसे, बेटी बचाओबेटी पढ़ाओ स्वच्छ भारत अभियान, कौशल विकास योजना औरपश्चिम बंगाल सरकार द्वारा कई परियोजनाएंय जैसे कि कन्याश्री प्रकल्पा, निर्मल बांग्ला अभियान, सेफ ड्राइव सेव लाइफ पहले सेही (टीजेएपीएसकेबीएसके) द्वारा लागू किया जा चुका था। इससंगठन द्वारा उपर्युक्त पहल सामाजिक जागरूकता पैदा करते हैं। इन तपसिल जाती आदिबासी प्रकटन सैनिक कृषि बिकास शिल्पकेंद्र प्रचार के अलावा (टीजेएपीएसकेबीएसके) ने अपनी पढ़ाईके उत्थान के लिए कई स्कूल लड़कियों को कन्याश्री प्रकल्पा और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत शैक्षिक उपकरणों कावितरण किया है। इस संगठन के सदस्यों ने पर्यावरणीय शांतिऔर हरी परिधि के विकास को सुनिश्चित करने के लिए सड़कबागान परियोजना को अपनाया। इस दौरान सैमेन कोले ने यह भी बताया कि तपसिल जातीआदिबासी प्रकटन सैनिक कृषि बिकास शिल्प केंद्र(टीजेएपीएसकेबीएसके) ने हाल ही में 31 मार्च 2018 कीतारीख को एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर, नई दिल्ली में राष्ट्रीयवार्षिक कार्यक्रम मनाया था। जिसमें  माननीय मंत्री स्वास्थ्य मंत्रीअश्विनी कुमार चैबे ने इस मौके पर अपनी बहुमूल्य उपस्थिति केसाथ गौरव प्रदान किया। अरुण कुमार (एमपी लोकसभा), राजीबकुमार  जैन (सीआरपीएफ के ब्रांड एंबेसडर), रघुनाथ गुप्ता (पूर्वमंत्री, बिहार सरकार) जैसे अन्य प्रतिष्ठित गणमान्य व्यक्ति इसकार्यक्रम में शामिल हुए। उनके अलावा सलाहकार समिति केसभी सदस्यों और इस संगठन के अन्य ईमानदार समिति केसदस्य इस अवसर पर (टीजेएपीएसकेबीएसके) के 400स्वयंसेवकों के साथ उपस्थित थे। तपसिल जाती आदिबासीप्रकटन सैनिक कृषि बिकास शिल्प केंद्र (टीजेएपीएसकेबीएसके)द्वारा उस राष्ट्रीय वार्षिक कार्यक्रम की भव्य सफलता अभी भी नईदिल्ली में है। साथ ही साथ तपसिल जाती आदिबासी प्रकटन सैनिक कृषिबिकास शिल्प केंद्र (टीजेएपीएसकेबीएसके)  ने घोषणा की है किएक महीने के भीतर पश्चिम बंगाल के हर जिले में संगठनात्मकगतिविधियां शुरू होने जा रही हैं साथ ही देश की राजधानी दिल्लीके तमाम औसत क्षेत्रों में यह लाभ लागों तक पहुंचाया जायेगा कई बैठकों में यह पहले ही बताया जा चुका है कि कर्मचारियों कोविषयों जैसे पूर्ण प्रशिक्षण की आवश्यकता होगी। 

सौमेन कोले बने भारतीय खाद्य उपभोक्ता के सदस्य, संस्था के स्वयंसेवको में दौडी खुशी की लहर