महारानी वैष्णो देवी मंदिर में आज नवरात्रि के सातवें दिन की गई मां कालरात्रि की पूजा अर्चना
GOVT OF INDIA RNI NO. 6859/61
Breaking News :

FARIDABAD

महारानी वैष्णो देवी मंदिर में आज नवरात्रि के सातवें दिन की गई मां कालरात्रि की पूजा अर्चना
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Sunday,02 October , 2022)

भक्तों ने मां कालरात्रि कर अराधना कर अरदास लगाई

Faridabad News, 02 October 2022 (bharatdarshannews.com) : तिकोना पार्क स्थित महारानी वैष्णो देवी मंदिर में आज नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि की पूजा अर्चना की गई। इस मौके पर भक्तों ने मां कालरात्रि कर अराधना कर अरदास लगाई। बता दें कि महारानी वैष्णो देवी मंदिर में 9 अखंड ज्योति जलाई जा रही हैं। श्रद्धालुओं ने माता के नाम के जयकारे लगा और ज्योति के आगे शीश नवाया। इस मौके पर दिल्ली के भजन लेखक व गायक अनिल कत्याल सहित विधायक सीमा त्रिखा, पूर्व विधायक चंदर भाटिया, आनंद मल्होत्रा, प्रदीप झांब, सुरेंद्र झांब, प्रताप भाटिया आदि मौजूद रहे। इस मौके पर मंदिर के प्रधान सेवक जगदीश भाटिया ने आए हुए अतिथियों का स्वागत किया और उन्हें माता के आशीर्वाद स्वरूप चुनरी, प्रसाद भेंट किया। जगदीश भाटिया ने बताया कि लेखक व गायक अनिल कत्याल माता की भेंटें लिखते हैं तथा उनके गीत कटरा में गाए जाते हैं। इस मौके पर मंदिर के प्रधान सेवक जगदीश भाटिया ने बताया कि नववरात्रि में सातवें दिन महासप्तमी पड़ती है। इस दिन मां दुर्गा की सातवीं स्वरूप मां कालरात्रि की पूजा-अर्चना की जाती है। सदैव शुभ फल देने के कारण इनको शुभंकरी भी कहा जाता है। मां कालरात्रि दुष्टों का विनाश करने के लिए जानी जाती हैं, इसलिए इनका नाम कालरात्रि है। मां दुर्गा की सातवीं स्वरूप मां कालरात्रि तीन नेत्रों वाली देवी हैं। कहा जाता है जो भी भक्त नवरात्रि के सांतवें दिन विधि-विधान से मां कालरात्रि की पूजा करता है, उसके सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। मां कालरात्रि की पूजा से भय और रोगों का नाश होता है। साथ ही भूत प्रेत, अकाल मृत्यु ,रोग, शोक आदि सभी प्रकार की परेशानियों से छुटकारा मिलता है।

महारानी वैष्णो देवी मंदिर में आज नवरात्रि के सातवें दिन की गई मां कालरात्रि की पूजा अर्चना