पैरालिंपिंक में भारत का तीसरा मेडल: डिस्कस थ्रो में विनोद कुमार ने जीता ब्रॉन्ज, भाविना-निषाद की 'चांदी'
GOVT OF INDIA RNI NO. 6859/61
Breaking News :

INTERNATIONAL

पैरालिंपिंक में भारत का तीसरा मेडल: डिस्कस थ्रो में विनोद कुमार ने जीता ब्रॉन्ज, भाविना-निषाद की 'चांदी'
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Sunday,29 August , 2021)

Tokyo News, 29 August 2021 (bharatdarshannews.com) : तोक्यो पैरालिंपिक में रविवार का दिन भारत के लिहाज से बेहद शानदार रहा। हमारे खिलाड़ियों ने कुल तीन मेडल जीते, जिसमें दो सिल्वर और एक ब्रॉन्ज शामिल है। पैरालिंपिक खेलों में रविवार का दिन भारत के लिहाज से बेहद शानदार रहा। हमारे खिलाड़ियों ने कुल तीन मेडल जीते, जिसमें दो सिल्वर और एक ब्रॉन्ज शामिल है। दिन की शुरुआत भाविना पटेल ने टेबल टेनिस से की। शाम होते-होते पहले निषाद कुमार ने हाई जम्प और फिर विनोद कुमार ने डिस्कस थ्रो में कांस्य पदक दिला दिया। ऐथलेटिक्स में निषाद कुमार ने जीता सिल्वर ऊंची कूद T47 event में भाग लेने वाले निषाद ने 2.06 मीटर के साथ रजत पदक अपने नाम किया। साल 2019 में खेलों में डेब्यू करने वाले निषाद की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। पैरालिपिंक सिल्वल मेडल जीतते हुए उन्होंने एशियन रेकॉर्ड की बराबरी भी कर दी। यह निषाद कुमार का व्यक्तितगत बेस्ट प्रदर्शन है। भारत के एक अन्य ऐथलीट राम पाल का खेल भी सराहनीय रहा। 1.94 मीटर की जंप के साथ वह पांचवें पोजिशन पर रहे, उनका भी यह करियर बेस्ट परफॉर्मेंस है।

गोल्ड जीतकर कटाया था पैरालिंपिक का टिकट : निषाद कुमार ने 2019 में दुबई में वर्ल्ड पैरा ऐथलेटिक्स ग्रांड फ्री में 2.05 मीटर हाई जंप लगाकर गोल्ड मेडल जीता था। इसी के साथ उन्होंने तोक्यो पैरालिंपिक का टिकट भी हासिल किया था। फरवरी 2021 में वह साई बेंगलुरु कॉम्पलेक्स में कैंप के दौरान कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे। उन्होंने न केवल महामारी को मात दी, बल्कि तोक्यो की तैयारी में कोई कसर नहीं छोड़ी। निषाद कुमार ने रविवार को टोक्यो पैरालंपिक की पुरूषों की ऊंची कूद टी46 स्पर्धा में एशियाई रिकार्ड के साथ रजत पदक जीता. कुमार ने 2.06 मीटर की कूद लगाकर एशियाई रिकार्ड बनाया और दूसरे स्थान पर रहे. अमेरिका के डलास वाइज को भी रजत पदक दिया गया, क्योंकि उन्होंने और कुमार दोनों ने समान 2.06 मीटर की कूद लगायी. भाविनी पटेल ने दिलाया था पहला मेडल टूर्नामेंट में भारत को पहला मेडल टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविना पटेल ने दिलाया। रविवार सुबह क्लास 4 स्पर्धा के महिला एकल फाइनल में चीन की झाउ यिंग के खिलाफ उन्हें हार का सामना करना पड़ा। गुजरात के एक छोटे से गांव से आने वाली भाविनी को यिंग ने सीधे मुकाबले में 7-11, 5-11, 6-11 से शिकस्त दी। हालांकि, इसके बावजूद वह तोक्यो पैरालिंपिक खेलों में भारत को पहला पदक दिलाने में सफल रहीं।

टोक्यो पैरालिंपिक में भारत के नाम हुए तीन मेडल : बता दें कि टोक्यो पैरालिंपिक 2020 में भारत के नाम अब तीन मेडल हो गए हैं. विनोद कुमार से पहले निषाद कुमार ने देश को हाई जंप में सिल्वर मेडल दिलाया था. वहीं उससे पहले भाविनाबेन पटेल ने रविवार को महिलाओं की एकल टेबल टेनिस क्लास 4 स्पर्धा में रजत पदक (सिल्वर मेडल) जीता था. 

पैरालिंपिंक में भारत का तीसरा मेडल: डिस्कस थ्रो में विनोद कुमार ने जीता ब्रॉन्ज, भाविना-निषाद की 'चांदी'