कोविड-19 के दृष्टिगत अगले कुछ सप्ताह काफी सतर्क रहने की जरूरत : डॉ. रणदीप गुलेरिया
Breaking News :

FARIDABAD

कोविड-19 के दृष्टिगत अगले कुछ सप्ताह काफी सतर्क रहने की जरूरत : डॉ. रणदीप गुलेरिया
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Tuesday,24 November , 2020)

तीन सदस्यीय केंद्रीय टीम ने की जिला में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा, निर्देश भी दिए

Faridabad News, 24 November 2020 (www.bharatdarshannews.com) : एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कोविड से निपटने के लिए हमें एक टीम की तरह कार्य करना है। प्रत्येक पॉजिटिव केस के संपर्कों को ढूंढकर उन्हें समय पर चिकित्सा सुविधा मुहैया करवानी है। हमें इस कार्य को गंभीरता के साथ करना है ताकि इस महामारी को रोकने में हम सफल हों। डॉ. गुलेरिया मंगलवार को जिला में कोविड की स्थिति की समीक्षा करने फरीदाबाद पहुंची भारत सरकार की तीन सदस्यीय टीम का नेतृत्व कर रहे थे। उन्होंने लघु सचिवालय में जिला के अधिकारियों के साथ तीन घंटे तक एक समीक्षा बैठक भी आयोजित की। उपायुक्त यशपाल ने उन्हें जिला में कोविड-19 की स्थिति, प्रबंधों और निपटने के उपायों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। मीटिंग में जिला की कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा करते हुए डॉ. गुलेरिया ने कहा कि अभी जिला फरीदाबाद में बिस्तरों की संख्या पर्याप्त है और अगर जरूरत पड़ती है तो इन्हें बढ़ाने की तैयारियां भी पूरी हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से बाजारों में भीड़ को नियंत्रित करने व लोगों को अधिक से अधिक जागरूक करने के लिए गतिविधियां चलाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने सरकारी अस्पतालों में बैडों, आईसीयू व वेंटिंलेटर की संख्या ज्यादा करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि हमें कोविड-19 के लिए निर्धारित एसओपी का पालन करना है और अगले कुछ सप्ताह ज्यादा जागरूक होने की आवश्यकता है। मीटिंग में उपायुक्त यशपाल ने टीम को फरीदाबाद जिला में कोविड-19 की वर्तमान स्थिति संक्षेप में बताई। उन्होंने मैनपावर, विभिन्न अपनाई गई गतिविधियों, ज़रूरतों व अपेक्षाओं के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि जिला फरीदाबाद में हरियाणा में सबसे ज्यादा कोविड-19 टेस्ट किए हैं। उन्होंने बताया कि जिला में अर्बन स्लम में दस लाख से ज्यादा लोगों के टेस्ट किए गए हैं। जहां ज्यादा संख्या में पॉजिटिव लोग आ रहे हैं वहां एक साथ 12 हजार से ज्यादा टेस्ट करने की तैयारी हमने की है। टीम कोविड-19 को मात देने के लिये जी-जान से हर संभव प्रयास कर रही है। इन प्रयासों में होम-आईसोलेशन, कॉनटेक्ट-ट्रेसिंग, हॉस्पीटलाईज़ेशन स्टेटस, हयूमन रिसोर्स की उपलब्धता, अस्पतालों में बिस्तरों की उपलब्ध्ता, कनटेन्मेंट जोन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में व कनटेन्मेंट क्षेत्रों में मास्क लगाना अति अनिवार्य हैं। उन्होंने बताया कि मैनपावर की कमी होते हुये भी कॉनटेक्ट-ट्रेसिंग का कार्य पूरी कुशलता से किया जा रहा है। भारत सरकार से आई हुई टीम ने फरीदाबाद जिला के कोविड-19 को मात देने के लगातार प्रयासों की प्रशंसा की तथा कार्य करने वाले स्टाफ को लगातार कार्य करने के लिये प्रेरित किया। टीम ने फरीदाबाद वासियों को सोशल डिस्टेंसिंग रखने के लिए व मास्क पहनने के लिये आग्रह किया। टीमने कोविड-19 पॉजिटिव मामलों के क्लोज कॉन्टेक्ट को मानिटरिंग में रहने व कोविड-19 का टेस्ट कराने का आग्रह किया। मीटिंग में भारत सरकार से आई टीम के सदस्यों में डॉ. वी.बी. दास और डॉ. संजय निदिंग शामिल थे। इसके अलावा जिला प्रशासन से उपायुक्त यशपाल, नगर निगम कमिश्नर डॉ. यश गर्ग, डीसीपी डॉ. अर्पित जैन, सीएमओ फरीदाबाद डॉ. रणदीप सिंह पुनिया, ईएसआई मेडिकल कॉलेज से डीन डॉ. ए. दास सहित स्वास्थ्य विभाग के कई डिप्टी सीएमओ व ईएसआई मेडिकल कालेज के कई प्रोफेसर मौजूद थे।

कोविड-19 के दृष्टिगत अगले कुछ सप्ताह काफी सतर्क रहने की जरूरत : डॉ. रणदीप गुलेरिया