15 वर्ष से 35 वर्ष आयु तक के युवाओं का कौशल विकास कर उन्हें स्वावलंबी बनाना सरकार की प्राथमिकता : मनोहर लाल
Breaking News :

CHANDIGARH

15 वर्ष से 35 वर्ष आयु तक के युवाओं का कौशल विकास कर उन्हें स्वावलंबी बनाना सरकार की प्राथमिकता : मनोहर लाल
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Sunday,27 September , 2020)

Chandigarh News, 27 September 2020 (bharatdarshannews.com) : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि 15 वर्ष से 35 वर्ष आयु तक के युवाओं का कौशल विकास कर उन्हें स्वावलंबी बनाना सरकार की प्राथमिकता है। शहीद भगत सिंह की 113वीं जयंती की पूर्व संध्या पर आयोजित ' ग्रामीण युवा मंथन’ वेबिनार को संबोधित करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 वर्ष से 35 वर्ष आयु तक के युवाओं के संदर्भ में उपयोगी विवरण व सूचनाओं का पर्यवेक्षण भी किया जा रहा है। इस दिशा में प्रत्येक परिवार के संदर्भ में उपयोगी विवरण व सूचनाएं एकत्रित करने के लिए प्रत्येक परिवार के परिवार पहचान-पत्र बनाए जा रहे हैं। प्रदेश में लगभग 70 लाख परिवारों के संदर्भ में उपयोगी विवरण व सूचनाएं तैयार की जानी हैं। प्रदेश में 26 लाख 50 हजार परिवारों के परिवार पहचान-पत्र बनाए गए हैं। प्रत्येक परिवार विशेषकर युवाओं के संदर्भ में उपयोगी विवरण व सूचनाएं एकत्रित किए जाने पर और अधिक उपयोगी योजनाएं तैयार की जा सकेंगी। युवा वर्ग को सही मार्गदर्शन देकर विकास की मूल धारा में शामिल करने पर योजनाएं केन्द्रीत रहेंगी। युवाओं को प्रेरित करने के लिए शहीद भगत सिंह की जयंती की पूर्व संध्या को एक अच्छा समय बताते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीद भगत सिंह की राष्ट्रभक्ति, बलिदान व उनकी विचारधारा युवाओं को सदैव प्रेरित करती रहेगी। शहीद भगत सिंह समस्त देशवासियों के लिए सदैव आदर्श व अनुकरणीय हैं। देश  व प्रदेश को प्रत्येक दृष्टि से सुदृढ़ करने की दिशा में युवावर्ग को वर्तमान में अपनी संपूर्ण क्षमताओं के साथ सदैव आदर्शों का अनुकरण करना है। वेबिनार के माध्यम से युवाओं को संबोधित करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं के भविष्य के दृष्टिगत प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा क्षेत्र में सुधार कार्य किए हैं। युवाओं की प्रतिभा को चिन्हित करने को महत्व दिया गया है। युवाओं को उनकी प्रतिभा के प्रदर्शन के लिए अवसर प्रदान करने के कार्यक्रमों को विस्तार दिया गया है। युवाओं को सरकारी क्षेत्र के साथ-साथ निजी क्षेत्र में भी सामानांतर रूप से रोजगार उपलब्ध करवाने की प्रक्रिया को गति दी गई है। इसके अतिरिक्त परंपरागत व्यवसायों को भी और अधिक विस्तार देने के लिए कार्य किया जा रहा है। कृषि क्षेत्र को आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने के लिए अनेक योजनाएं कार्यान्वित की गई है। जल संरक्षण व वृक्षारोपण के कार्यक्रमों में युवाओं की भागीदारी को विस्तार देने के लिए कार्य किया जा रहा है। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि जनकल्याणकारी योजनाओं व कार्यक्रमों का लाभ प्रत्यक्ष रूप से लाभपात्रों को प्रदान करने की दिशा में आॅनलाईन प्रणाली को विस्तार दिया गया है। समाज में सामाजिक व आर्थिक रूप से सबसे निचले पायदान पर बैठे व्यक्ति तक विकास का लाभ पहुचाने की दिशा में गंभीरता से कार्य किया गया है। सरकारी सेवाओं की भर्तियों व स्थानांतरणों में पारदर्शिता लाने की दिशा में अभूतपूर्व कार्य किया है। हरियाणा प्रदेष में असंतुलित लिंगानुपात को संतुलित किए जाने की दिशा में  उल्लेखनीय कार्य किया गया है। उल्लेखनीय है कि युवाओं के साथ प्रत्यक्ष संवाद किए जाने की दिशा में हरियाणा के मुख्यमंत्री का यह तीसरा कार्यक्रम रहा। 'ग्रामीण युवा मंथन’ वेबिनार में प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से युवाओं द्वारा मुख्यमंत्री से प्रश्नों के माध्यम से प्रत्यक्ष संवाद किया गया। युवाओं द्वारा मुख्यमंत्री से मुख्यतया जल संरक्षण, प्रदूषित होता जा रहा भूमिगत जल, वृक्षारोपण को एक जनांदोलन का रूप देने, ग्रामीण क्षेत्रों से पलायन को रोकने व नियंत्रित करने, सक्षम युवा योजना की सफलता, प्रत्येक गांव में एक पुस्तकालय स्थापित किए जाने, हरियाणा को खेलों के हब के रूप में विकसित करने व खिलाड़ियों के कल्याण के लिए किए जा रहे कार्यों, वंचित रहे हुए क्षेत्रों में उद्योगों को विसतार देने तथा प्रदेश से नशावृति को समूल रूप से समाप्त किए जाने से संबंधित प्रश्नों के माध्यम से संवाद किया गया। मुख्यमंत्री ने युवाओं द्वारा किए गए प्रश्नों  पर अपनी प्रतिक्रिया में ग्रामीण क्षेत्रों में 30 लाख घरों तक स्वच्छ पेयजल पहुंचाने के लक्ष्य, ग्रामीण व लघु उद्योगों को विस्तार देने, चार हजार गांवों में विटा दुग्ध उत्पादों के केन्द्र स्थापित किए जाने, खेल क्षेत्र के विकास व खिलाड़ियों के कल्याण के लिए किए जा रहे कार्यों, उद्योगों के विस्तार तथा नशावृति को नियंत्रित करने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा पड़ौसी राज्यों के साथ मिलकर किए जा रहे प्रयासों और अन्य विभिन्न संदर्भों में हरियाणा सरकार द्वारा किए जा रहे विभिन्न कार्यों व भविष्य की योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि प्रत्येक दृष्टि से युवाओं का कौशल विकास करना व उन्हें विभिन्न स्तरों पर अच्छे अवसर प्रदान करना उनकी प्राथमिकता है और इस दिशा में योजनाबद्ध व क्रम बद्धरूप से कार्य किया जा रहा है। 'ग्रामीण युवा मंथन’ वेबिनार में प्रदेश के हजारों युवाओं ने भाग लिया। वेबिनार का संचालन डाॅ सिमरन ने किया। वेबिनार कार्यक्रम में डाॅ जसवन्त शास्त्री ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया।

15 वर्ष से 35 वर्ष आयु तक के युवाओं का कौशल विकास कर उन्हें स्वावलंबी बनाना सरकार की प्राथमिकता : मनोहर लाल