भाजपा-जजपा गठबंधन पर बरसे हुड्डा, बोले- सरकार का सिद्धांत कुछ न करो पर व्यस्त दिखो वाला
Breaking News :

DELHI/NCR

भाजपा-जजपा गठबंधन पर बरसे हुड्डा, बोले- सरकार का सिद्धांत कुछ न करो पर व्यस्त दिखो वाला
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Wednesday,12 February , 2020)

New Delhi News, 12 February 2020 : वरिष्ठ कांग्रेस नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा ने हरियाणा के सत्तारूढ़ भाजपा-जजपा गठबंधन पर बुधवार को कटाक्ष करते हुए कहा कि राज्य के सामने ज्वलंत मुद्दे हैं लेकिन ऐसा लग रहा है कि सरकार का सिद्धांत ‘‘कुछ न करो पर व्यस्त दिखो’’ है। उन्होंने कहा कि गठन के बाद के पहले 100 दिनों में सरकार ने केवल भाषण दिए और शासन के मोर्चे पर विफल रही। भारतीय जनता पार्टी-जननायक जनता पार्टी सरकार ने पिछले सप्ताह 100 दिन पूरे किए। हुड्डा ने कहा, ‘‘कई स्कूलों में पर्याप्त शिक्षक नहीं हैं लेकिन वे 40,000 शिक्षकों के पदों को भरने के लिए कोई कदम नहीं उठा रहे हैं। किसानों समेत समाज के अन्य वर्गों के सामने कुछ और ज्वलंत मुद्दे हैं लेकिन यह सरकार कुछ नहीं कर रही है। उनका केवल यह सिद्धांत दिख रहा है कि ‘कुछ न करो पर व्यस्त दिखो’’’। उन्होंने कहा, ‘‘वे दावा कर सकते हैं कि उन्होंने अपने पहले 100 दिनों के दौरान 101 काम किए लेकिन सच्चाई यह है कि उन्होंने केवल भाषण दिए और शासन के मोर्चे पर कुछ नहीं किया। हमने खनन और धान घोटालों को उजागर किया लेकिन अभी तक जांच के कोई आदेश नहीं दिए गए।’’ सतलुज-यमुना लिंक (एसवाईएल) नहर मुद्दे पर हुड्डा ने कहा कि पंजाब सरकार ने हाल ही में सर्वदलीय बैठक बुलाई और वह खुलकर दावा कर रही है कि उसके पास छोड़ने के लिए एक बूंद पानी भी नहीं है लेकिन हरियाणा सरकार कुछ नहीं कर रही है। दिल्ली विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की शर्मनाक हार के बारे में पूछे जाने पर हुड्डा ने कहा, ‘‘लोकतंत्र में आपको जनादेश का सम्मान करना होता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक दिल्ली चुनावों में कांग्रेस के प्रदर्शन का सवाल है तो पार्टी में राष्ट्रीय स्तर पर आत्मावलोकन होना चाहिए।’’ एक सवाल के जवाब में हुड्डा ने कहा, ‘‘देश को कांग्रेस की जरूरत है। कांग्रेस देश के लिए है, कांग्रेस ने देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी है। यह कांग्रेस की नैतिक जिम्मेदारी है कि वह देश के लिए लड़ें।’’हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी दावा किया कि 28 प्रतिशत से अधिक की दर के साथ हरियाणा में देश में सबसे अधिक बेरोजगारी है और ग्रामीण खपत कम है। हुड्डा ने आर्थिक सर्वेक्षण की रिपोर्ट की गैरमौजूदगी में बजट पूर्व चर्चा के राज्य सरकार के कदम के पीछे के तर्क पर सवाल उठाया और कहा कि ठोस सुझाव देना मुश्किल होगा। कांग्रेस नेता ने दावा किया कि भाजपा के शासनकाल में हरियाणा का कर्ज 61,000 करोड़ रुपये तीन गुना बढ़कर 1.81 लाख करोड़ रुपये हो गया है और उन्होंने के राज्य की आर्थिक स्थिति पर श्वेत पत्र लाने की मांग की।

भाजपा-जजपा गठबंधन पर बरसे हुड्डा, बोले- सरकार का सिद्धांत कुछ न करो पर व्यस्त दिखो वाला