कांग्रेस को राफेल का सेना में शामिल होना भी बुरा लग रहा है : अमित शाह
Breaking News :

HARYANA

कांग्रेस को राफेल का सेना में शामिल होना भी बुरा लग रहा है : अमित शाह
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Wednesday,09 October , 2019)

Kaithal News, 09 Oct 2019 : भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं देश के गृहमंत्री अमित शाह ने आज कैथल जिले से चुनावी बिगुल फुंकते हुए कांग्रेस पर जमकर हमला बोलते हुए कैथल जिले के चारों भाजपा प्रत्याशियों को विजयी बनाने की जनता से अपील की। अमित शाह ने कैथल से भाजपा उम्मीदवार लीला राम गुर्जर को आर्शीवाद देते हुए जीत का मंत्र दिया और कहा कि कैथल से आप लोग लीला राम को भारी मतों से विजयी बनाकर भेजें। अब कैथल जिले की विकास की यात्रा को गति देने का काम आप लोगों ने करना है। शाह ने कैथल से भाजपा प्रत्याशी भाई लीला राम, पूंडरी से एडवोकेट वेदपादल, कलायत से कमलेश ढांडा व गुहला से रवि तारांवाली के लिए वोट की अपील की। शाह ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि 70 साल से देश के नागरिकों के मन में एक कसक थी कि जम्मू-कश्मीर देश से अलग क्यों है। इस रोड़े को हमन हटाया, लेकिन यह हिम्मत कभी कांग्रेस क्यों नहीं दिखा पाई। जब एक देश में 2 झंडे नहीं हो सकते, 2 संविधान नहीं हो सकते, 2 प्रधानमंत्री नहीं हो सकते। तो ये जम्मू-कश्मीर को देश से अलग करने वाली धारा 370 अब तक क्यों थी। कांग्रेस की 3 पीढिय़ां बदल गईं, लेकिन कांग्रेस की सरकारें जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 नहीं हटा पाई। ऐसा नहीं कि यह अनुच्छेद हट नहीं सकता था, लेकिन कांग्रेस के पास हटाने की हिम्मत नहीं थी, मगर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दूसरे कार्यकाल के पहले ही संसद सत्र में 370 को खत्म करने का काम किया। कांग्रेस ने अनुच्छेद हटाने का विरोध किया। शाह ने कहा कि वे राहुल गांधी से पूछना चाहते हैं कि क्या वे हरियाणा में आकर अनुच्छेद-370 हटाने के मुद्दे पर केंद्र सरकार के साथ हैं या विरोध में हैं? उन्होंने उपस्थित जनसमूह से भी पूछा, क्या एक देश में दो झंडे और दो प्रधानमंत्री हो सकते हैं? मगर भाजपा के हर निर्णय का विरोध करना कांग्रेस की आदत बन चुकी है। अगर भाजपा दिन को दिन कहेगी, तो कांग्रेस वाले कहेंगी कि रात है। अगर हम रात कहेंगे, तो वे कहेंगे कि दिन है। लेकिन जब 1971 में देश की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी थी, तब विपक्ष में भाजपा थी और उस समय भ्भारत-पाकिस्तान की लड़ाई हुई थी और उसमें भारत की जीत हुई थी और बांग्लादेश अलग देश बना था। लेकिन उस समय भाजपा नेता अटल बिहारी वाजपेयी ने इस फैसला का विरोध नहीं, बल्कि स्वागत किया था, क्योंकि यह देशहित में था। लेकिन कांग्रेस देशहित के हर फैसले का विरोध करती है। हमने 3 तलाक का कानून बनाया तो कांग्रेस ने विरोध किया, जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाई तो कांग्रेस ने विरोध किया, पाकिस्तान की सीमा में जाकर देश के जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक की तो कांग्रेस नेताओं ने विरोध किया, आंतकवाद की कमर तोडऩे के लिए नोटबंदी की तो कांग्रेस ने विरोध किया। अब देश से घुसपैठियों को बाहर निकालने व राफेल का सेना में शामिल किए जाने का भी कांग्रेस को बुरा लग रहा है। इसलिए आपके बीच ये लोग आएं तो इनसे आप सवाल जरूर पूछना कि आप देशहित में लिए गए फैसलों का क्यों विरोध करते हो। उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस को को समझ में नहीं आ रहा है कि चुनाव पूर्व से शुरू करें या पश्चिम से। विपक्ष पूरी तरह गफलत में है। इस मौके पर हरियाणा प्रभारी अनिल जैन, सांसद नायब सैनी, पूर्व सांसद कैलाशो सैनी, जिलाध्यक्ष अशोक गुर्जर, कैलाश भगत, सुरेश गर्ग, राव सुरेंद्र, अरुण सर्राफ, पूर्व विधायक कुलवंत बाजीगरख्, पूर्व विधायक फुल सिंहख् खेड़ी, शैली मुंजाल, मुकेश जैन, रामपाल माजरा, संजय भारद्वाज, रामपाल राणा, राजेंद्र शर्मा स्लेटी,ख् अजीत चहल, सज्जन ढुल, पूर्व विधायक तेजबीर सिंह सहित अन्य उपस्थित थे।

आज पूरे विश्व में भारत का डंका बज रहा है। पी.एम. नरेंद्र मोदी बाहर जाते हैं तो विश्व भर में सम्मान बढ़ता है। मनमोहन सिंह जाते थे तो मौनी बाबा की तरह मैडम 2 पन्ने लिखकर देती थीं, वे उन्हें पढ़कर आ जाते थे। कई बार मलेशिया का पन्ना थाईलैंड में तो थाईलैंड का पन्ना मलेशिया में पढ़ आते थे। जिस कारण उन्हें कोई गंभीरता से नहीं लेता था। लेकिन मोदी जी जाते हैं तो हजारों लोग मोदी-मोदी करके उनका अभिनंदन करते हैं। यह सम्मान भाजपा या नरेंद्र मोदी का नहीं है बल्कि हरियाणावासियों यह सम्मान देश के 125 करोड़ देशवासियों का है।
 

हरियाणा में आया बड़ा परिवर्तन
अमित शाह ने कहा कि 5 साल पहले वे भाजपा अध्यक्ष के नाते वोट मांगने आए थे। जनता ने भाजपा सरकार बनाने का मौका भी दिया और मुख्यमंत्री मनोहर लाल बने। 5 साल के अंदर हरियाणा में बहुत बड़ा परिवर्तन आया है। अब जाति के आधार पर काम नहीं होते। मनोहर सरकार की कोई जाती नहीं है, हर आदमी की सरकार है। पहले चौटाला की सरकार आती थी तो गुंडागर्दी बढ़ती थी और हुड्डा आता था तो भ्रष्टाचार संग लाता था। नौकरियों का बाजार अब बीते जमाने की बात हो गई है। युवाओं को योग्यता एवं मैरिट के आधार पर नौकरियां दी जा रही हैं।
 

सुरजेवाला के पेट में होता है दर्द
अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री कुछ करते हैं तो कैथल के सुरजेवाला यानि कांग्रेस के प्रवक्ता के पेट में दर्द होता है। अमेरिका में मोदी का भव्य सम्मान हुआ तो सुरजेवाला के पेट में दर्द हुआ। वे सवाल उठाते हैं कि पी.एम. विश्व भ्रमण पर ही रहते हैं। मगर यह सच्चाई है कि मोदी से ज्यादा कांग्रेस प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह विदेश में गए हैं। वे केवल सोनिया मैडम द्वारा टाइप किए दो पन्ने पढ़कर आ जाते थे। इसलिए लोगों को पता नहीं चलता था कि पी.एम. विदेश में हैं या देश में। आज विदेश में एयरपोर्ट पर ही मोदी का स्वागत करने के लिए लाखों लोग उमड़ पड़ते हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति भी हैरान रह गए कि इतने लोग मोदी को सुनने कहां से आ गए। यह सम्मान भाजपा या मोदी का नहीं है, बल्कि देश की 125 करोड़ जनता का है।

कांग्रेस को राफेल का सेना में शामिल होना भी बुरा लग रहा है : अमित शाह