पहाड़ से लेकर बच्चों की छात्रवृत्ति भी हजम कर गई मौजूदा खट्टर सरकार : दीपेन्द्र हुड्डा
Breaking News :

CHANDIGARH

पहाड़ से लेकर बच्चों की छात्रवृत्ति भी हजम कर गई मौजूदा खट्टर सरकार : दीपेन्द्र हुड्डा
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Thursday,01 August , 2019)

Chandigarh News, 01 Aug 2019 : कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य व पूर्व सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि धांधली, वसूली, रिश्वतखोरी, फर्जीवाड़े, पेपर लीक, अपराधियों को संरक्षण का पर्याय बनी हरियाणा की मौजूदा भाजपा सरकार पहाड़ से लेकर बच्चों की छात्रवृत्ति भी हजम कर गई। उन्होंने यह भी जोड़ा कि हरियाणा में घोटालों का बोलबाला हो गया है। ईमानदारी का चोला पहनकर भाजपा सरकार पिछले पांच साल से हरियाणा के लोगों से विश्वासघात कर रही है। उन्होंने आशंका जताई कि स्कॉलरशिप घोटाला सिर्फ रोहतक, झज्जर, सोनीपत में ही नहीं बल्कि हरियाणा के अन्य जिलों में भी व्यापक पैमाने पर हुआ है। यदि इसकी निष्पक्ष जांच करायी जाए तो घोटाले के तार ऊपर से नीचे तक जुड़ जायेंगे। पूर्व सांसद ने कहा कि हुड्डा सरकार के समय शिक्षा, निवेश, रोज़गार आदि के मामले में हरियाणा प्रतिदिन नयी ऊँचाइयों को छू कर नंबर-1 बन रहा था। हुड्डा सरकार ने गरीब और अनुसूचित जाति के करीब 30लाख छात्रों को पढ़ाई-लिखाई के लिये विभिन्न योजनाओं के माध्यम से छात्रवृत्ति का लाभ दिलाया था। डॉ. भीमराव अंबेडर मेधावी छात्र योजना को भाजपा सरकार ने सत्ता में आते ही बंद कर दिया। अब सामने आया है कि भाजपा सरकार ने बच्चों की छात्रवृत्ति के पैसे भी हजम कर लिये। उन्होंने मांग करी कि सभी घोटालों की निष्पक्ष जांच के लिये जरुरी है कि हाईकोर्ट की निगरानी में सीबीआई से इनकी जांच करायी जाए। उन्होंने यह भी जोड़ा कि प्रदेश की जनता को घोटाला और कुशासन राज से मुक्ति दिलाने के लिये आगामी 18 अगस्त को परिवर्तन महारैली का आयोजन किया गया है, जिसकी तैयारियों के लिये 4 अगस्त को नयी अनाज मंडी रोहतक में परिवर्तन कार्यकर्ता सम्मेलन बुलाया गया है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आगामी 4 अगस्त को परिवर्तन कार्यकर्ता सम्मलेन में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने का आवाह्न किया और कहा कि भाजपा सरकार से आगे की लड़ाई लड़ने की ठोस रणनीति 4 अगस्त के इसी कार्यकर्ता सम्मेलन में रखी जायेगी। सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हरियाणा के भाजपा राज में घोटालों की लाईन लग गई है। अवैध खनन घोटाला, परिवहन विभाग का किलोमीटर स्कीम घोटाला, बिजली विभाग में मीटर खरीद घोटाला, हज़ारों करोड़ रुपये की काली कमाई वाला ओवरलोडिंग घोटाला आदि तो ताजा मामले हैं। इससे पहले रोड़वेज भर्ती घोटाला, नायब तहसीलदार भर्ती (पेपर लीक) घोटाला, इंस्पेक्टर भर्ती (पेपर लीक) घोटाला, जीएसटी चोरी घोटाला उजागर हुआ है। सभी मामलों में कहीं न कहीं सरकार की मिलीभगत या लापरवाही से इनकार नहीं किया जा सकता है।  दीपेन्द्र हुड्डा ने हैरानी जताते हुए कहा कि अखबारों में छपी खबरें बता रही हैं कि हज़ारों करोड़ रुपये के ओवरलोडिंग घोटाले की काली कमाई का बंटवारा अधिकारी, मंत्री से लेकर ऊपर तक जाता है। वहीं भ्रष्टाचार के दलदल में डूबी भाजपा सरकार अपनी गर्दन बचाने के लिए छोटी मछलियों को फंसाने में जुटी है, जबकि बड़े मगरमच्छ कानून के शिकंजे से बचे हुए हैं। भाजपा सरकार के नेता और मंत्री सत्ता के घमंड में इस कदर चूर हैं कि वे देश की सबसे बड़ी अदालत के आदेशों की भी खुलेआम अवहेलना कर रहे हैं। दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि सरकार एक तरफ आरावली की पहाड़ियों में अवैध खनन को रोकने में नाकाम रही है, वहीं दूसरी तरफ ‘पौधागिरी’ अभियान चलाने का दिखावा कर पर्यावरण संरक्षण का राग अलाप रही है। उन्होंने कहा कि कई सौ करोड़ रुपये के रोडवेज किलोमीटर स्कीम घोटाले को हरियाणा की भाजपा सरकार के परिवहन मंत्रालय ने अंजाम दिया था। हाईकोर्ट के संज्ञान लेने के बाद मुख्यमंत्री जी इस मामले में केवल अधिकारियों को दोषी ठहराकर अपना पीछा छुड़ाते नज़र आ रहे हैं। जबकि प्रदेश की जनता पूछ रही है कि 41 रुपये प्रति किलोमीटर के दोगुने रेट पर 510 बसों के कांट्रैक्ट की फाईलें किसने मंजूर की थीं? उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों में प्रदेश की जनता भाजपा सरकार के घमंड को चकनाचूर कर देगी।

पहाड़ से लेकर बच्चों की छात्रवृत्ति भी हजम कर गई मौजूदा खट्टर सरकार : दीपेन्द्र हुड्डा