फसल बीमा के नाम पर हुआ है करोड़ों रूपए का घोटाला : दिग्विजय चौटाला
Breaking News :

HARYANA

फसल बीमा के नाम पर हुआ है करोड़ों रूपए का घोटाला : दिग्विजय चौटाला
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Thursday,11 July , 2019)

Sirsa News 11 July 2019 : जननायक जनता पार्टी के युवा नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने बैंकों द्वारा मनमाने ढंग से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ से वंचित किए गए पीड़ित किसानों को फसल मुआवजा के पैसे ब्याज सहित दिलवाने व मामले की निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर सिरसा जिले में जिला उपायुक्त से मुलाकात की। किसानों को साथ लेकर पहुंचे दिग्विजय चौटाला ने कहा कि फसल बीमा के नाम पर यह करोड़ों रुपए का घोटाला है जिसकी जांच होने पर बड़े खुलासे होंगे। उन्होंने कहा कि सरकार व प्रशासन किसानों की सुध नहीं ले रहा है और मामले की जांच में देरी की जा रही है। उन्होंने कहा कि यहां तक की किसान धरने पर बैठे है लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हो रही। उन्होंने किसानों के साथ उपायुक्त को ज्ञापन दिया। दिग्विजय चौटाला व किसानों ने डीसी अशोक गर्ग से मिनी सचिवालय में मुलाकात करके हुए विस्तार से सारा मामला उनके संज्ञान में लाया। वहीं इस दौरान किसानों ने बताया कि 2017 में नरमा कपास की फसल खराब होने का मुआवजा आज तक नहीं मिला जिसका प्रीमियम भी बैंकों द्वारा काट लिया गया था और कुछ दिन बाद बीमा की रकम वापस खातों में रिफंड कर दी व मुआवजा देने से इंकार कर दिया। यही साल 2018 व 2019  में हुआ। इसके अलावा अनेक किसानों का घर का पता भी उस गांव का कर दिया गया है जिस गांव में कम मुआवजा आया ताकि किसानों को कम मुआवजा देना पड़े। किसानों ने बताया कि बैंक, बीमा कंपनी व सरकार मिलकर किसानों को लूट रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार किसानों की सुनवाई नहीं कर रही व किसानों के साथ अन्याय हो रहा है। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि जिला सिरसा के किसानों को बीमा रकम काटने के बाद खराब फसल का मुआवजा नहीं मिलने का मामले में बड़ा घोटाला है व करोड़ों रुपए का मामला है। पूरा मामला की जानकारी लेकर उपायुक्त सिरसा अशोक गर्ग ने मामले की जांच करने की बात कही। इस मौके पर जेजेपी कार्यालय प्रभारी डॉ हरी सिंह भारी, मंदर सिहाग, सह प्रभारी सतवीर कड़वासरा सुरजीत बाना, अनिल ढिल्लो, कुलदीप बाना, विकास डूडी, सुभाष कस्वां, कर्ण आदि मौजूद थे।

फसल बीमा के नाम पर हुआ है करोड़ों रूपए का घोटाला : दिग्विजय चौटाला