एमएसपी के नाम पर किसानों के साथ मजाक, अब किसानों की सरकार को जवाब देने की बारी - दुष्यंत चौटाला  
Breaking News :

CHANDIGARH

एमएसपी के नाम पर किसानों के साथ मजाक, अब किसानों की सरकार को जवाब देने की बारी - दुष्यंत चौटाला  
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Thursday,04 July , 2019)

Chandigarh News, 4 July 2019 : सरकार द्वारा फसलों के दाम पर मात्र दो, तीन प्रतिशत एमएसपी बढ़ाने पर जननायक जनता पार्टी ने कड़ा विरोध करते हुए भाजपा सरकार के इस किसान विरोधी फैसले  की निंदा की है। जेजेपी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला, प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह समेत पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने चंडीगढ़ स्थित पार्टी कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके किसानों के हित में एमएसपी बढ़ाने समेत किसानों, युवाओं के कई मुद्दों पर चर्चा की। जेजेपी के वरिष्ठ नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश के कृषि मंत्री ओपी धनखड़ कहते थे कि सरकार फसलों की इतनी एमएसपी बढ़ा देगी कि किसान नाचेंगे, लेकिन सरकार ने मात्रा छलावे के तौर पर एमएसपी में दो, तीन प्रतिशत बढोत्तरी करके किसानों को ठगा है। दुष्यंत ने कहा कि इतना कम एमएसपी बढ़ने से किसानों में रोष है और वो विधानसभा चुनाव में बीजेपी को नचाने और उन्हें जवाब देने का काम करेंगे। साथ ही दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकार ने पहले किसानों को पेंशन के नाम पर ठगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने डेढ लाख किसानों के खाते में दो हजार रूपए डलाए, लेकिन उसके बदले में डीएपी-यूरिया के दाम बढ़ाकर वो पैसे वापस छीन लिए। वहीं दुष्यंत चौटाला ने बढ़ रही बेरोजगारी पर बोलते हुए कहा कि जेजेपी युवाओं के रोजगार को लेकर 10 जुलाई से जिला स्तर पर विधायकों और मंत्रियों के आवास का घेराव करते हुए धरना-प्रदर्शन करेगी। दुष्यंत ने बताया कि पार्टी नेताओं द्वारा रोजगार मेरा अधिकार अभियान के दौरान एकत्रित की गई बेरोजगार युवाओं की डिग्रियों को विधायकों और मंत्रियों को सौंपी जाएगी और सरकार से इन बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार की उचित व्यवस्था करने की मांग की जाएगी। वहीं इस दौरान जजपा के प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह ने फसलों पर एमएसपी की बढ़ोतरी को किसानों के लिए नाकाफी बताते हुए प्रदेश में गिरते भूजल स्तर को लेकर भाजपा सरकार द्वारा उठाए गए कदमों को किसान विरोधी बताया। निशान सिंह ने कहा कि सरकार ने हरियाणा में होने वाली फसलों के दामों पर बहुत कम एमएसपी बढ़ाया है जो प्रदेश के किसानों के हक में नहीं है। उन्होंने सरकार से एमएसपी बढ़ाने के साथ-साथ कम समय में पैदा होने वाली धान की किस्मों के लिए किसानों को प्रोत्साहित करने की मांग की सरदार निशान सिंह ने कहा कि सरकार को किसानों पर लगाम लागने की बजाय प्रदेश में कम समय पर और थोड़े पानी से पकने वाली धान की फसलों के लिए किसानों को प्रोत्साहित करना चाहिए। उन्होंने धान की पूसा 1509 का जिक्र करते हुए कहा कि यह किस्म कम समय में पक कर तैयार हो जाती है। उन्होंने कहा कि पूसा 1509 जैसी किस्मों को सरकार को न्यूनतम समर्थन मूल्य के दायरे में लाए और न्यूनतम समर्थन मूल्य लगभग तीन हजार रूपये प्रति क्विंटल घोषित करे ताकि किसान गिरते हुए भूजल स्तर को बचाने में सरकार का सहयोग कर सके। साथ ही उन्होंने बताया कि ऐसी धान की किस्मों से प्रदूषण भी नहीं फैलेगा क्योंकि किसानों को इसके अवशेषों को जमीन में मिलाने में आसानी होती है। वहीं इस मौके पर पंचायती राज प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष और हरी चुनरी चौपाल के प्रभारी राजेंद्र लितानी ने बताया कि महिला को राजनीति के प्रति जागरूक करने के मकसद से चलाया गया कार्यक्रम हरी चुनरी चौपाल फिर से शुरू होने जा रहा है। उन्होंने बताया कि विधायक श्रीमति नैना सिंह चौटाला सात जुलाई को फरिदाबाद जिले के पृथला हलके में हरी चुनरी चौपाल को संबोधित करेंगी। इसके बाद 10 जुलाई को होडल, 14 जुलाई को नारायणगढ़ और 21 जुलाई को हथीन विधानसभा क्षेत्र में हरी चुनरी चौपाल का आयोजन होगा। राजेंद्र लितानी ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले प्रदेश के 45 हलकों में हरी चुनरी चौपाला का सफल आयोजन हुआ था जिसमें महिलाओं ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। उन्होंने कहा कि अब आगामी विधानसभा चुनाव से पहले बचे 45 हलकों में भी जेजेपी हरी चुनरी चौपाल का आयोजन करके महिलाओं को राजनीति के प्रति जागरूक करेगी। इस अवसर पर युवा प्रकोष्ठ के प्रभारी सुमित राणा, युवा प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष रविंद्र सांगवान, कार्यालय सचिव रणधीर सिंह समेत पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

एमएसपी के नाम पर किसानों के साथ मजाक, अब किसानों की सरकार को जवाब देने की बारी - दुष्यंत चौटाला