बुजुर्गों की सेवा ही सच्ची सेवा : तिलक भाटिया
Breaking News :

FARIDABAD

बुजुर्गों की सेवा ही सच्ची सेवा : तिलक भाटिया
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Wednesday,15 May , 2019)

Faridabad News, 15 May 2019 :  समाज में रहकर भी समाज से बाहर जीने को मजबूर बुजुर्गों की सेवा ही सच्ची सेवा है जो व्यक्ति अपने मां बाप को अपने घर में ना रख कर उन्हें वृद्ध आश्रम में छोड़ देते हैं वह समाज के नाम पर कलंक है उन्हें समाज में रहने का कोई अधिकार नहीं यह कहना है वरिष्ठ समाजसेवी तिलक भाटिया का  तिलक भाटिया अपनी सालगिरह के मौके पर दो नंबर स्थित ताऊ देवीलाल वृद्धाश्रम में अपने परिवार के साथ पहुंचे और वहां पर रह रहे बुजुर्गों को फल व मिठाइयां वितरित की और बुजुर्गों ने तिलक व उनके परिवार को आशीर्वाद दिया वृद्ध आश्रम में रह रहे बुजुर्ग तिलक व उनके परिवार को देख कर बहुत खुश हुए क्योंकि वह अक्सर अपने परिवार के साथ वृद्ध आश्रम जाकर बुजुर्गों के बीच अपना समय बिताते हैं उनकी सेवा करते हैं और उनका आशीर्वाद प्राप्त करते हैं भाटिया के मुताबिक जब भगवान ने उन्हें दिया है तो उसका सही जगह इस्तेमाल होना चाहिए उन्होंने कहा इस काम में उन्हें बहुत खुशी व आत्म संतुष्टि मिलती है इस मौके पर उनके साथ उनकी धर्मपत्नी मां दोनों बेटे व बहू मौजूद थे

 

बुजुर्गों की सेवा ही सच्ची सेवा : तिलक भाटिया