‘सवाल मतदाता का या मतदान का’को लेकर हुआ सेमीनार का आयोजन
Breaking News :

FARIDABAD

‘सवाल मतदाता का या मतदान का’को लेकर हुआ सेमीनार का आयोजन
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Sunday,14 April , 2019)

Faridabad News, 14 April 2019 : एलायंस जय भारत के प्रधान मनीष लोहिया ने आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनावों को मददेनजर रखते हुए एक बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में मनीष लोहिया द्वारा सवाल मतदाता का या मतदान का, को लेकर अपने विचार रखे।  इस सेमीनार में संजीव बैंसला,पुनीत मिश्रा, मनोज, मिन्टू कुमार, दीपक, जितेन्द्र, मोहित गुप्ता सहित अन्य लोग उपस्थित थे। मनीष लोहिया ने कहा कि आज के राजनैतिक दल चाहे वो बीजेपी हो, कांग्रेस हो या कोई क्षेत्रीय पार्टी हो या इससे संबंध रखने वाले लोग हो, सब अपने राजनीतिक हित साधने में लगे हुए है आज हर तरफ चुनाव का माहौल बन रहा है। हर पार्टी अपनी तरफ से चुनावी वायदे और घोषणा करने में लगी हुई है। पर मतदाता के हितो की चिंता किसी को नही है। आज परिवर्तन का समया आ चुका है और ऐसे लोगों को चुनकर भेजने की जरूरत है। जब अपने हक के लिए लडना जानते हो न की ऐसे लोगों की जोकि सिर्फ पार्टी की सम्मान को देने में लगे रहे है या जी हजूरी में ही लगे रहते है। कोई अमीरो की बात करता है तो कोई गरीबो की, पर उनकी दशा सुधारने के लिए कोई पहल नही करता। योजनाएं बनायी जाती है और कागजों पर पूरी हुई दिखा दी जाती है। पर हकीकत में कुछ नहीं हो पाता है। मनीष लोहिया ने बताया कि इन सबके बीच एक ऐसा वर्ग है जिसके बारे में कोई बात नहीं करता और वह वह है मीडिल क्लास फैमिली। मिडिल क्लास फैमिली के लिए न तो कोई योजना बनती है और ना ही इनके बारे में सोचा जाता है। बस यही कोशिश रहती है कि ऐसे मिडिल क्लास फैमिली से कैसे अधिक से अधिक टैक्स की या अन्य तरह की कर की वसूली की जा सके। लेकिन धाक के वही तीन पात रह जाते है जब ऐसे वर्ग के लिए कोई भी दल आगे नहीं आता है। राजनैतिक पार्टी को अपनी घोषणााओं को करते समय चुनावी वायदे करते समय सच्चाई से अवगत होते हुए कार्य करने चाहिए जिससे आम पब्लिक का भला हो। अगर हम व्यापार और रोजगार को न सोचते हुए सिर्फ वादो में ही उलझे रहेंगे तो जनता का टैक्स का पैसा, ऐसे ही लोक लुभावने वायदे करने और बनाने में ही लगता रहेगा। अत: नेताओं की जमीनी हकीक त पर ही रहकर काम करना चाहिए।

‘सवाल मतदाता का या मतदान का’को लेकर हुआ सेमीनार का आयोजन