कांग्रेस की निगाह अमरिंदर पर टिकी
GOVT OF INDIA RNI NO. 6859/61
Breaking News :

POLITICS

कांग्रेस की निगाह अमरिंदर पर टिकी
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Thursday,23 September , 2021)

New Delhi News, 23 September 2021 (bharatdarshannews.com) : कांग्रेस पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की गतिविधियों पर नजर बनाए हुए है। बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने बीते दिनों स्पष्ट कर दिया कि वह सिद्धू के खिलाफ अपना उम्मीदवार उतारेंगे। अंग्रेजी समाचार पत्र 'इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के मुताबिक मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अलग-अलग साक्षात्कारों में 'केंद्रीय कृषि कानूनों' को लेकर भाजपा की निंदा नहीं की है। वहीं कैप्टन अमरिंदर सिंह के ओएसडी नरेंद्र भांबरी ने उनसे जुड़ा हुआ एक पोस्टर शेयर किया।

क्या अकेले चुनाव लड़ेंगे कैप्टन ? 

इस पोस्टर के सामने आने के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चा छिड़ गई है। कहा जा रहा है कि कांग्रेस के रवैये से नाराज कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पार्टी और सिद्धू के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और वह आगामी चुनाव से पहले पार्टी को बड़ा झटका दे सकते हैं। ओएसडी नरेंद्र भांबरी के द्वारा शेयर किए गए पोस्टर का शीर्षक 'कैप्टन 2022' है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि बिग बैंग की वापसी हो रही है।  इस पोस्टर के सामने आने के कुछ देर बाद कैप्टन ने बयान जारी किया कि वह नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ आगामी विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार उतारेंगे।

2 अक्टूबर को होगा बड़ा ऐलान !

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक कांग्रेस पहले से ही कैप्टन की गतिविधियों पर नजर रख रही थी। पिछले कुछ दिनों से कैप्टन के भाजपा नेताओं के साथ संपर्क की भी खबरें थीं। वहीं कहा जा रहा है कि कैप्टन 2 अक्टूबर को अपने आगामी भविष्य को लेकर बड़ा ऐलान कर सकते हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक एक सूत्र ने कहा कि कैप्टन ने विभिन्न साक्षात्कारों में कृषि कानून को लेकर भाजपा के खिलाफ कुछ नहीं बोले हैं। ऐसे में हम सिर्फ यह जानने के उत्सुक हैं कि वो कहां जा रहे हैं।  

समीकरण साधने में लगी कांग्रेस 

कांग्रेस के एक नेता ने कहा कि कैप्टन 2022 वाला पोस्टर यह दर्शा रहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में वह एक कैप्टन की तरह चुनाव में उतरेंगे। भले ही अब वह कांग्रेस के कैप्टन नहीं हैं। वहीं कांग्रेस सूत्र ने बताया कि पार्टी अभी मंत्रिमंडल विस्तार के लिए समीकरणों को संतुलित करने की कोशिशों में जुटी हुई है ताकि आगामी चुनाव से पहले कोई भी नाराज न हों। 

कांग्रेस की निगाह अमरिंदर पर टिकी