राजनैतिक पृष्ठ भूमि के बावज़ूद विजय प्रताप कामयाब होंगे ?
Breaking News :

POLITICS

राजनैतिक पृष्ठ भूमि के बावज़ूद विजय प्रताप कामयाब होंगे ?
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Saturday,28 September , 2019)

JB Sharma/Faridabad News, 28 September 2019 : आज प्रदेश में सन् 2019 के विधानसभा  चुनावों को लेकर सरगर्मियां तेज़ हो चुकी हैं। ऐसे में बीजेपी, कांग्रेस या फिर अन्य राजनीति दल के वरिष्ठ या वरिष्ठतम नेता अपनी नई पीढ़ी को आगे लाना चाहते है। यहां बीजेपी द्वारा पूरज़ोर लगाया गया परिवारवाद का नारा भी फीका पड़ता दिखाई दे रहा है। जहां एक केन्द्री राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर अपने सुपुत्र देवेन्द्र चौधरी को राजनीति में आगे लाना चाहते हैं तो वहीं दूसरी कांग्रेस के वरिष्ठतम नेता चौधरी महेन्द्र प्रताप अपने सुपुत्र विजय प्रताप इस बार विधायक पद का चुनाव लड़वाना चाहते हैं। सूत्रों की माने तो पिता-पुत्र की राजनैतिक रणनीति समझना भी रूचिकर होगा। जहां एक ओर कांग्रेस के पुराने निष्ठावान  सिपाही जन-लोकप्रिय चौधरी महेन्द्र प्रताप जी एनआईटी से विधायक पद का चुनाव लडऩे चाहते हैं तो वहीं बताया जा रहा हैं कि उनके सुपुत्र विजय प्रताप बडख़ल क्षेत्र से चुनाव लडऩे को इच्छुक दिखाई दे रहे हैं। इतना तो सही है कि कोई कहीं से भी लड़ सकता है। लेकिन हम बात कर रहें बडख़ल विधान सभा क्षेत्र की जहां श्रीमती सीमा त्रिखा के एक बार दौबारा बडख़ल विधानसभा चुनाव लडऩे के प्रबल आसार है। ऐसे में कांग्रेस के समक्ष बड़ी चुनौती जनता का भरोसा जीतने की है। वहीं सीमा त्रिखा द्वारा किए गए विकास कार्यों की अनदेखी करना अनैतिक कथन होगा। जहां विजय प्रताप की बात है तो वे स्वयं को सीमा त्रिखा के समक्ष मुकाबले के लिए किसी प्रकार योगय मानते हैं। यह उन्हें मालूम होगा।

 

 

राजनैतिक पृष्ठ भूमि के बावज़ूद विजय प्रताप कामयाब होंगे ?