सैम द्वारा अध्यात्म, विज्ञान और भारतीयता के अनूठे संगम को दर्शाती कृष्णावतार पर विशेष प्रस्तुति
Breaking News :

RELIGIOUS

सैम द्वारा अध्यात्म, विज्ञान और भारतीयता के अनूठे संगम को दर्शाती कृष्णावतार पर विशेष प्रस्तुति
(Kiran Kathuria) www.bharatdarshannews.com Tuesday,12 February , 2019)

New Delhi News, 12 Feb 2019 : गुरुदेव श्री आशुतोष महाराज के दिव्य मार्गदर्शन में  दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान के युवा जाग्रति अभियान सैम द्वारा कुंभ मेला, प्रयागराज में तीसरी श्रृंखला का भव्य आयोजन किया गया! कार्यक्रम का उद्देश्य युवाओं को सही दिशा प्रदान कर उन्हें राष्ट्र निर्माण हेतु प्रेरित करना था! सैम के युवा स्वयंसेवकों ने डांस बैले के माध्यम से भगवान श्री कृष्ण के जीवन का एक अनूठा चित्रण किया, जिसने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस विलक्षण कार्यक्रम में अध्यात्म, विज्ञान और भारतीय आदर्श के अनूठे संगम को दर्शाती एक आलोकिक नृत्य-नाटिका प्रस्तुत की गई। कृष्णावतार पर आधारित एक प्रभावशाली बैले का प्रस्तुतिकरण कर भगवान श्री कृष्ण के धरा पर अवतरण के गूढ़ रहस्यों को दर्शाया गया। और फिर देश के सुप्रसिद्ध रॉक बैंड पोस्टबॉक्स द्वारा युवाओं को विश्व शांति, सौहार्द व राष्ट्र प्रेम का सन्देश दिया गया। डीजेजेएस प्रतिनिधि, साध्वी परमा भारती ने कार्यक्रम में उपस्थित हज़ारों युवाओं को भगवान श्री कृष्ण की दिव्य लीलाओं से अवगत कराते हुए भगवान श्री कृष्ण के जीवन मूल्यों एवं आदर्शों पर प्रकाश डाला। उन्होंने आत्मा के विकास के बारे में बताया कि आध्यात्मिकता जीवन में सभी प्रकार के विकास का अंतिम मूल है। अंत में, प्रसिद्ध कॉमेडियन और बॉलीवुड व्यक्तित्व- सिद्धार्थ सागर ने अपनी बेदाग कॉमिक टाइमिंग और सामाजिक रूप से प्रासंगिक व्यंग्यात्मक कॉमेडी को दर्शकों के समक्ष रखा। कार्यक्रम के बारे में मीडिया को संबोधित करते हुए साध्वी प्रज्ञा भारती ने कहा  सैम द्वारा भगवान श्री कृष्ण के आदर्शों को समकालीन समय की सामाजिक एवं राजनितिक परिस्तिथियों से जोड़ते हुए दर्शाया गया है। उनका जीवन और आदर्श आज भी प्रेरणादायक हैं। उन्होंने कहा कि मंच के सभी कलाकार सैम के निस्वार्थ युवा सेनानी हैं जिन्होंने सामाजिक सुधार के लिए सैम के युवा सशक्तीकरण में भाग लेकर अपनी प्रतिभा और कौशल के साथ युवा ड्राइव में समर्पित रूप से योगदान दे रहे हैं। मुख्य अतिथिगणों ने अपनी उपस्थिति देकर कार्यक्रम की सराहना की और विशेष रूप से चल रहे कुंभ मेले में युवा पहचान की परिभाषा में एक नया आयाम जोड़ने के लिए डीजेजेएस के प्रतिनिधियों स्वामी आदित्यानंद जी और स्वामी नरेंद्रानंद जी का धन्यवाद भी किया: श्री कप्तान सिंह सोलंकी (माननीय राज्यपाल, त्रिपुरा), श्री केशरी नाथ त्रिपाठी (माननीय राज्यपाल, पश्चिम बंगाल), प्रोफेसर राजेंद्र प्रसाद (कुलपति, इलाहाबाद राज्य विश्वविद्यालय), प्रोफेसर जिया हायताओ (निदेशक, सेंटर फॉर चिंडियन स्टडीज, जिनान विश्वविद्यालय, चीन), प्रोफेसर गिरीश चंद्र त्रिपाठी (पूर्व कुलपति, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय), श्री पवन उपाध्याय (अध्यक्ष, यूथ इंडिया फाउंडेशन), श्रीमती उषा राजे सक्सेना (लेखिका और कवि, यूनाइटेड किंगडम), श्री नीरज त्रिपाठी (अपर महाधिवक्ता, इलाहाबाद उच्च न्यायालय), श्री अजय मित्तल (संघ चालक, आरएसएस रेवाड़ी)! युवा कुंभ में उपस्थित युवाओं से बात करते हुए, श्री केशरी नाथ त्रिपाठी जी (माननीय राज्यपाल, पश्चिम बंगाल) ने कहा, " सैम द्वारा देश के युवाओं को प्रोत्साहित किया जाने वाला कार्य सराहनीय है। आज संकट में पड़ी मानवता के बीच सैम की यह पहल आशा की एक नयी किरण प्रदान करती है। सैम के कार्यो की सराहना करते हुए उन्होंने इसके अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचने की कामना की ताकि हम एक राष्ट्र के रूप में एक बेहतर भविष्य की ओर बढ़ सकें।" श्री कप्तान सिंह सोलंकी जी (माननीय राज्यपाल, त्रिपुरा) ने इस कार्यक्रम में उपस्थित श्रोताओं को संबोधित करते हुए डीजेजेएस को युवाओं के लिए ऐसे प्रेरक कार्यक्रम के आयोजन के लिए आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम जीवन में आध्यात्मिकता के संदेश देने के लिए सफलतापूर्ण रही।

सैम द्वारा अध्यात्म, विज्ञान और भारतीयता के अनूठे संगम को दर्शाती कृष्णावतार पर विशेष प्रस्तुति